in

Best Motu patlu ki kahani kids story in hindi 2021| मोटू पतलू और सपने की कहानी – Lovestatushere.in

Motu patlu ki kahani – Motu Aur Patlu Comics named Motu Patlu Aur Junk Kagaz created by Pitara Comic. This comic is in Hindi language.

If you are interested in reading comics then you have come to the right website. To read such funny Hindi comics, you can join our website (https://lovestatushere.in/) and read such funny Hindi comics daily. To join us, please subscribe on our site and get new updates directly on your mail and also share this web site with your friends so that they too can enjoy the comics.

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ki kahani
motu patlu ki kahani

मोटू पतलू – कथानक-सुनील जोली
चित्रांकन-हरविन्द्र मांकड़
नहीं सुना!
ओय काकरोच कुछ सुना आजकल शहर
में किस बात के चर्चे हैं।
तो जरा अपने कानों में तेल डालकर सुन,
कागज के दाम एकदम से बढ़ गये हैं।
तो इसमें इतना उछलने की क्या बात है,
तेरी कौन सी कागज की मिलें लगी हुई है।

motu patlu ki story

तू रहा बुद्ध का बुद्ध,अबे आवंले के
आचार यदि कागज के भाव बढ़ेगें तो क्या
रद्दीभीमहंगी नहीं होजायेगी
पर हमारे घर तो थोड़ी सी अखबारें हैं,
ज्यादा से ज्यादा एक आध रूपया ज्यादा.
मिल जायेगा..और क्या!
गरर, बेवकुफ ..गधे.क्यों न हम भी रद्दी
इक्टठी करे..फिर बुन्दे कबाड़िये को
बेचे….सोच कितना मुनाफा होगा।
ही..हिंग लगे न फिटकरी रंग चोखा का
चोखा
अब आया नलाईन पर..
कौन आ गया रेलवे लाईन पर.. बच गया
या बोलोराम हो गया।

motu patlu kahani

आ मर नासपीटे कछुये..तू लोगों के बोलो
राम की ही सोचता रहता है या कोई काम
धाम भी करता है।
मुझे दुनिया के हर एक काम का बीस साल
का तजुर्बा है, बोलो क्या काम करके
दिखाऊी
हमारे साथ मिलकर बोरे उठा और गली हे हे हे..महाराज जी..यह काम तो मैं शुरू कर भी चुका हूँ।
गली घूम कर रद्दी कागज इक्ट्ठे कर और मेरा बोरा बाहर ही पड़ा है.मैं तो तुम्हारे से भी रद्दी
खरीद,
खरीदने ही आया था।
बोल
करेगा।
तो तूने भी कागज के भाव बढ़ने वाली
खबर सुनहीली।
हे हे हे….बादशाहो..सानूं ऐवें दियां खबर
शबरा..सुनण दावी.साल दा तजुर्बा
हैगा..समझे।
motu patlu story in hindi

तो चलो फिर अपना नया काम शुरू करते है।
जल्दी ही तीनों निकल पड़े।
पुरानी रद्दी दो..कागज कापी..दो.
अरे वो देखो उस घर में कागज़ ही कामज

story of motu patlu

चलो आओखरीद लेते हैं।
सभी फटाफट उस मकान के पास जा
पहुँचे,एक व्यक्ति अंदर से निकला
कहिये…..क्या काम है?
आपके आंगन में ढ़ेर सारे पुराने रद्दी कागज
पड़े हुये हैं…
वह हमें उठा लेने दीजिए.आपकी सफाई
भी हो जायेगी और हमारा काम भी बन
जायेगा।

motu patlu ki kahaniyan

अच्छा जी..चलो दोस्तो हो..जाओशुला
ठीक है..मगर ध्यान रहे सिर्फ आर्गन से ही
उठाना कहीं घर के अंदर न घुसजाना।
होगयें शुरू..
लगता है उन्हें बाहर फेंकना भूल गये है।
तभी घसीटे की निगाह खिड़की के अन्दर
पड़ी
अरे वो देखो ऑन से ज्यादा कागज
तोम
अन्दर मेजों पर पड़े है।

story of motu patlu

तो आ जाओ फिर..फटाफट इक्ठे कर
लेते है।
तीनों खिड़की से अन्दर कूद गये और जो
कागजमिला बोरे में भरने लगे
यहदेखो..दराज पूरीभरी पड़ी है..पहले पता
होता तो एक दो खाली बोरियां और ले आते
जल्दी ही-
लो अब फटाफट बुन्दे कव्याड़िये को
बेच आयें।
और नये नये नोट कमायें।
फिर मिल कर रसमलाई खायें।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ka kahani

अभी थोड़ी दूर ही गये थे कि
हम्फ..हम्फ.क्या तुम तीनों वही हो न जो
मेरे घर से रद्दी कागज उठा के लाये हैं।
अरे रूकना ….
हां जी..क्यों क्या बात है?
बात के बापू ..तुम लोगो ने मेरे दफ्तर के
सारे कागज भी उठा लिये..
जो मैं घर
में पूरे करने के लिएलाया था।
फटाफट निकालो..वापिस करो
वो..तो
पता नहीं किस बोरे में दबे पड़े हैं।
तभी तो मैं यह डण्डा साधलाया हूँ..अब
फटाफट मेरेवो.
कागज ढूंढदोवरना
यह डण्डा तुम सब का हाल इन रद्दी
कागजों जैसा बना देगा..समझे

motu patlu ki kahaniyan

फिरतो हालत-ए-नजारा यह था
बू हू हू..अब लगे रहो..एक एक कागज
को देख कर दूंढना पड़ेगा. न जाने कितना
समय लग जायेगा।
समय तो बेटा तभी से खराब आ गया था।
जब यह महालीचड़ हमारे संग लगा था।
मुझे कोसने से क्या मिलेगा …चुप कर
कागज दूढ़ते रहो..वरना यह आदमी हमारा
बंटाधार कर देगा..बू हू हू

kahani motu patlu

पतलाकसमा
यार ..मोटू..परसों रात मैंने सपने में देखा मैं
एक बाड़े सुन्दर से
रहा हूँ
बगीचे में घूम
अच्छा
और पता है कल सुबह घूमने गया तो ठीक
वैसा ही बगीचा मिस्टर वर्मा की कोठी में
बना हुआ था।
वाह!

motu patlu ka kahani

मगर कल रात मुझे फिर सपना
आया!
कल रात मैंने देखा मैंने एक कदम आगे बढ़ाया तो एक
कि बगीचे में चारो कांटा मेरे पांव में चुभ गया तभी
ओर कांटे ही कांटे मेरी नीदं खुल गई.
पड़े है।
क्या- ?
ओह ! तुम ऐसा करना आज दोनों पावों में
जूते पहन कर सोना जिससे तुम अगर अपने
कदम आगे बढ़ाओ तो और कांटे तो न
चुभे।
अयं?

motu patlu hindi kahani

कथानक-रजत राजवंशी
चित्राकन-हरविन्द्रमाकंड़
चार
मायापर्व में मोरियां बहुत बढ़ गई थी, एक
रोन्न अखबार में चोरियों के बारे में पढ़ कर
मोदल्यातल को लगा कि चोर किसी दिन
उनक घरमीमा सकता ही
हमें कुछ न कुछ करना होगा मोटे यमदूत।
ठीक कहता है तू पतीले,वरना किसी दिन
चोर हमारे यहाँ आ गया तो…
..है..है..है..आ गया क्या ? आ ही गया हूँ।
और इस वीं में पकड़े जाने के चांस भी
कम है..हे..हे. हे

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu comic

हमें चोर से मुकाबले के लिए तैयार रहना
चाहिए।
मैं तो तैयार हूँ। पिछली होली पर गलती से
मैंने यह पिस्तौल खरीद ली थी, यह किस
समय काम आयेगी।
…मैं दिल का कमजोर जरूर हूँ..मगर होली
वाली पिस्तौल से नहीं डरने वाला।
चल अब सो जाते है. मुझे तो नीद आ रही
है।
आ..(उबासी) चल फिर..!
जल्दी ही कमरा दोनों के खरटिों से गूंजने
लगा।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ki jodi kahani

लोजी वह तो सो गये पर यह चोर महाशय
तो अब हरकत में आये है।
हे हे हे मुझे इसी का इंतजार था।
अरे पतलू..तूने अभी कोई आवाज सुनी?
हो..सुनी तो है
लगता है। कोई चोर आ गया है। अपने यहाँ
चो…र….बू हू हू हू हू..मुझे तो डर लग रहा
है।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu hindi

चोर जी अपने काम में मस्त हैं।
अगर कोई जाग जाये तो कहदो तुम्हारे घर
में कोई चोर घुसा है मैं उसी को पकड़ने के
लिये अंदर कूदा हूँहे हे हे
-पुलिस की वर्दी पहनकर चोरी करने के
भी कई फायदे हैं।
इनको यहाँ अपना काम करने देते हैं, और
जरा.एक नजर अपने मास्टर घसीटा राम
की तरफ मारते हैं।
बू हू हू हू..कहीं चोर मेरे घर न आ जाये
कहीं मेरे फटे पुराने कपड़े न चुरा ले
अपने यारों मोटू पतलू के घर
चलकर किसी एक को साध ले आता हूँ
फिर डर नहीं लगेगा।
जाये..बू हुहुहू…

motu patlu in hindi

सनक आखिर सनक है और डर आखिर
डर है। घसीटा राम को डर लगा तो मोटू
पतलू के यहाँ जाने की सनक में अपना घर
उभर
उधर किचन में कोई है..
तभी चोर ने भी आहट सुनी
द..दे.देखते है..
बापरे कोई आ रहा है. इधर.क..कहाँ छिपू?
इस आटे के ड्रम के पीछे छिपना ठीक
रहेगी।
दोनो अन्दर घुसे…,
यहाँ तो कोई नहीं दिख रहा पर कोई धा तो जरूर

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu story in hindi

इधार कोई आहट हुई थी!
कही आटे के ड्रम में तो नहीं है?
दोनो ड्रम में झांकने के लिए झुकेतभी..
देखें!
…चोर ने ड्रम को उन्ही पर उलटा दिया
भाग लू|

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu hindi kahani

मोटू पतलू आटे से सना चेहरा साफ करके
कुछ देख पाते, : उससे पहले ही चोर जी
महाराज किचन से निकल भागे।
रूक जाओ..वरना गोली मार दूंगा।
हे..हे..हे..होली कीपिस्तौलसे
गोली मारोगे
.मारो.मारो..
हड़बड़ाहट में मोटू ने ट्रेगर दबा ही दिया
धीय
हाय
गोली की आवाज सुनते ही नाजुक दिल के
चोर महाशय चक्रघिनी खाकर गिर पड़े
मगर गिरे सीधे

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu कार्टून

घसीटा राग के ऊपर!
होली में गलती से दीवाली वाली पिस्तौल
की खरीद का कोई फायदा हुआ या
नहीं..आओदेखे।
गनीमत है गोली नहीं लगी
भागही लूँ..
-अब तो
तभी मोटू जोर जोर से चिल्लाया
चोर..चोर
चोर..चोर..
‘चोर?
मोटू की आवाज वहाँ से गुजरतें हवलदार टिण्डा मल ने सुनी।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ki jodi

घसीटा राग के ऊपर!
होली में गलती से दीवाली वाली पिस्तौल
की खरीद का कोई फायदा हुआ या
नहीं..आओदेखे।
गनीमत है गोली नहीं लगी
भागही लूँ..
-अब तो
तभी मोटू जोर जोर से चिल्लाया
चोर..चोर
चोर..चोर..
‘चोर?
मोटू की आवाज वहाँ से गुजरतें हवलदार टिण्डा मल ने सुनी।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu cartoon in hindi

किधर है चोर कहां है चोर
यह रहा ..तुम इसे पकड़ो..दूसरा भाग गया
मैं उसे पकड़ता हूँ।
लीजिए पाठक गणो,असली चोर तो भाग
गया..मोटू पतलू और हवलदार कीआवाजें
सुनकर आनन-फानन में लोग भागे भागे
आये।
चार
चोर।
…मैं कहांहूँ..
बड़ी मुश्किल से हाथ आया है। बाहर बड़ा शोर है..चल आ देखें तो सही
उस चोर को
मारो इसे..
चलो
जब तक वो बाहर आते तब तक घसीटे
का फलूदा बन चुका था।
+
दिशुम यह ले
मत मारो मैं तो घसीटा हूं
फिर
Succes

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu jodi

अरे छोड़ो इसे..यह तो सचमुच अपना
घसीटा है।
तो फिर चोर कहां गया?
वह है–
सब कुछ ले जाऊंगा ..हे हे हे
जिस समय मोटू पतलू घर से बाहर आये
ठीक उसी समय उनके घर में क्या हो रहा
था जरा यह भी देखलीजिए।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu cartoon chahiye

और जब बाहर सारा हंगामा खत्म
होने के बाद मोटू पतलू घर आये तो
सिवाय दीवारों के कुछ भी नहीं बचा
धाक
बू हू हू हू..लुट गये बरबाद हो गये,हमारा
सब कुछ चोरी चला गया
चोर…चोर..
बूहु हू..जो हो गया सो हो गया अब चोर
चोर तो मत चिल्लाओ कहीं मोहल्ले
वाले दुबारा आ गये तो मेरी बची खुची
हड्डियों को भी सुरमा बन जायेगा बूहहू

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ke chutkule

बू हू हू…जब से हमारे घर चोरी हुई है।
किस्मत ही पलट गई है अब तो हर तरफ
से धक्के और जूते ही मिलते हैं।
आज हमारे घर चोरी हुई है तो कल किसी
दूसरे के घर में भी हो सकती है।
हां यार हम तो लुटे सो लुटे..कम से कम
बाकी मोहल्ले वालों को तो लुटने से
बचाना चाहिये।
आ जरा झटके के घर चलते है। शायद
वही कोईतिकड़म भिड़ादे।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu kahani

चल दिये दोनों
पहुंचकर
झटका जी..घर में हो या किसी मरीज को
किया क्रम में गये हुये हो?
आओ बन्दरो, कसे दर्शन दिये..कहो चोर
का कुछ पता चला या नहीं?
‘वो तो अब न जाने कब हाध आयेगा सू बता
हमारी कोई सहयता कर सकता है या नहीं
हमें कोई चौकीदार का पता ही बता दे।
चौकीदार की क्या जरूरत है मेरे पास उससे
भी बढ़िया इंतजाम है।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ki kahani

वो क्या ?
मेरा आविष्कार रोबोट कुत्ता…
अरे वह मशीनी कुत्ता क्या करेगा भला?
हमें तो चोर पकड़ने वाला अविष्कार
चाहिये।
यह रोबेट कुत्ता सब काम कर लेगा पर
| यह मैं तुम्हें नहीं दूंगा..सारे मौहल्ले को
इक्ट्ठा करो,सबकी राय होगी तो ही इसका
प्रयोग करूंगा।
हम अभी जाकर सभी को इक्ट्ठा कर
लाते हैं।
चलोजी

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ki story

जल्दी ही मोहल्ले के प्रमुख व्यक्तियों की
बैठक हुई
अब तो बोलो मोटू पतलू हम सब को क्यों
इलाया है।
आप.सब तो जानते ही है कि आजकल
चोरियां बहुत हो रही है..सबसे ताजा तो
हमारे घर में ही हुई है।
यह दास्तान हम तुम्हारे मुंह से हजार बार
सुन चुके है..कोई मतलब की बात है तो
बोलो
सुनो तो..हमारी मायापुरी के महानतम
डाक्टर श्री झटका राम जी ने एक रोबोट
कुत्ता बनाया है जो हमारे मोहल्ले की
रखवाली करेगा।
तो मशीनी कुत्ते का क्या करें..असली कुत्ते
क्या पिकनिक मनाने गये हुये हैं।
यात तो तुम्हारी ठीक है पर यह काम कैसे
करेगा?
नही..पर असली कुत्ता हुड्डी के लालच
में चोर को छोड़ सकता है। या सो सकता है
पर यह रोबोट कुत्ता तो न सोयेगा न कुछ
खायेगा…बस चौकीदारी करता रहेगा।

Motu Patlu Ki Kahani

story of motu patlu

इसका दायां कान दबाने से यह काम
करेगा..पर भूल कर भी कोई इसका बांया
कानन दबाना..
अब इसे स्टार्ट भी तो कर न
झटके ने रोबेट कुत्ते का दांयां कान दबा.
दिया कुत्ता चलने लगा।
टिक टिक।
क्या यह हमारी रक्षा भी कर सकता है।
हाँ तो पाठको .इस तरह रोज रात को बारी
बारीसे कुत्ता सभी मोहल्लेवासियों के घरों
पर पहरा देने लगा।
जी हाँ ..इसमें बहुत ताकत है..यह एक
वार में दीवार तोड़ सकता है।

Motu Patlu Ki Kahani

motu patlu ka kahani

मगर आज हमारे सुपरहीरो
श्रीमान घसीटा राम के घर की
बारी है।
इसके बायें कान में क्या खास
बात है क्यों न मैं उसे दबा दूँ..
देखू क्या होता है.वैसे भी मुझे
ऐसे कुत्ते दोड़ाने का बीस
साल का तजुबा है।
मगर जनाब..बीस साल के तजुर्बे।
से जैसे ही घसीटे ने कुत्ते का बांया|
कान दबाया वह सुपर रफ्तार से
निकल भागा
पिछली बार तो चोर ने मुझे
पिटवा दिया था। पर अब इस
रोबोट कुत्ते के रहते कोई डर
नहीं।
फिर तो कुत्ता किसी के रोके न रूका..

Motu Patlu Ki Kahani
kahani motu patlu

थोड़ी देर बाद ही..यह क्या.इस कुत्ते को हमने रखवाली के
लिये रखा था या दीवारों में सेंधे बनाने के
लिये..
सारी दीवारो में छेद कर गया ..अब तो चोर
आसानी से चोरी कर सकेंगे गुर
यह सब उन काटूों के बनाये रोबेट कुत्ते
के कारण हुआ है। चलो आओ जरा उन्हें
सबक सिखायें।
जल्दी ही चारों जवानो की खूब अच्छी
तरह से मुरम्मत की गई
ठाधड़ाक मारा हायमरा
खबरदार..जो ऐसाउलजलूलआविष्कार
फिर कभी किया तो
हमारे मकानो की मुरम्मत जल्दी ही करवा
देना वरना हम तुम्हारी इससे भी भयानक
हालत कर देंगे।

Motu Patlu Ki Kahani
motu patlu story in hindi

मगर यही बात समाप्त हो जाती तो ठीक थी
मोहल्ले वालो ने किसी तरह कुत्ते को
पकड़ा और-
बू हू हू.न जाने यह कहां जाकर
रूकेगा…हाय मेरी पीठ…
रूकेगा तो तभी जब इसकी बैटरी खत्म
होगी तब तक यूं ही घिसटते रहो..हाय..
यह सारा पंगा इस मुच्छड़ तजुर्बो का किया
कराया है, यदि आज किसी तरह जिन्दा
बच गये तो इसे समुन्द्र में फेंक आयेंगें
बोरी में बांध कर.गुर
बू हू हू.मैंने तो सिर्फ जुर्बा करके देखा
था मुझे क्या पता यायह हालत बनेगी

Motu Patlu Ki Kahani

fairy tales in hindi
उफ! यह वैशाली फिर पायदान से पांव पौछे
बिना अन्दर आ गई।
सुरिन्द्र रानी जौली!
अभी डांटती हूँ इसे।
जब कि मैंने समझाया भी था कि घर में
मेहमान आये हुये है और यह छोकरीअलग
से काम बढ़ायेदे रही है।

वैशाली! ओवैशाली!!..
मैं इधर हूँ मम्मी।
यह क्या घर में घुसते ही भूख लग
आई-याद है मैंने सवेरे क्या कहा था?
हाँ मम्मी,,आपने कहा था यह मेहमान भी
जब देखो मुंह उठाये चले आते है
कम्बख्त ..अब दिन भर नौकरों की तरह
इनके हुक्म बजा लाओ हंह।

Motu Patlu Ki Kahani

moral stories in hindi for class 7

मेगावाजमना
मैं आपका दोस्त घसीटारामहूं “नीचे मोटू के हाथ
में हलवे की भरीप्लेट देखरहे हैं न आप कृप्या
करके मुझे उस तक पहुंचा दीजिए”मैं वादा
करताई कि आधा प्लेट हलवा आपका सच्या

What do you think?

Written by admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

100+ Best जिन्न की कहानी Real Story Of Jinn In Hindi – Lovestatushere

Top 30 Best Horror Story in Hindi – भूत की डरावनी कहानियाँ ( 2021 ) – Lovestatushere.in